Shayri | शायरी

Gulzar – Badi Takleef Hoti Hai | गुलज़ार – बड़ी तकलीफ़ होती है | Ghazal

Hindi Kala presents you Gulzar's Ghazal Badi Takleef Hoti Hai | मचल के जब भी आँखों से छलक जाते हैं दो आँसूसुना है आबशारों को बड़ी तकलीफ़ होती है

Continue Reading Gulzar – Badi Takleef Hoti Hai | गुलज़ार – बड़ी तकलीफ़ होती है | Ghazal

Wasim Barelvi – Mohabbat Ke Dino Ki Yahi Kharabi hai | वसीम बरेलवी – मुहब्बतों के दिनों की यही ख़राबी है | Ghazal

Hindi Kala presents Wasim Barelvi - Mohabbat Ke Dino Ki Yahi Kharabi hai | वसीम बरेलवी - मुहब्बतों के दिनों की यही ख़राबी है | Ghazal

Continue Reading Wasim Barelvi – Mohabbat Ke Dino Ki Yahi Kharabi hai | वसीम बरेलवी – मुहब्बतों के दिनों की यही ख़राबी है | Ghazal

Rahat Indori – Bulati Hai Magar Jane Ka Nai | राहत इन्दौरी – बुलाती है मगर जाने का नईं | Ghazal

Hindi Kala presents Rahat Indori - Bulati Hai Magar Jane Ka Nai | राहत इन्दौरी - बुलाती है मगर जाने का नईं | This got famous for memes also.

Continue Reading Rahat Indori – Bulati Hai Magar Jane Ka Nai | राहत इन्दौरी – बुलाती है मगर जाने का नईं | Ghazal