Guzaarish (2010) – Tera Zikr | तेरा ज़िक्र | Shail Hada & Rakesh Pandit

Please Share:
Rate this post

कुछ गीत और कुछ फिल्में ऐसी होती है जो दिल को छु जाती है।  गुजारिश भी मेरी कुछ उन्ही फिल्मों में से है और यह गीत तो जैसे इस फ़िल्म कि जान है।  आप इस गीत में दिखाए गए जादू को न देखकर ऋतिक रोशन कि आँखों में जो जूनून है जादू के लिए वो देखे आप को यह गीत और भी खूबसूरत लगने लगेगा। 

के तेरा ज़िक्र है या इत्र है

जब-जब करता हूँ
महकता हूँ, बहकता हूँ, चहकता हूँ

शोलों की तरह
खुशबुओं में दहकता हूँ
बहकता हूँ, महकता हूँ
 
तेरी फ़िक्र है या फक्र है
जब-जब करता हूँ
मचलता हूँ,
उछलता हूँ
फिसलता हूँ
पागल की तरह, मस्तियों में
टहलता हूँ, उछलता हूँ, फिसलता हूँ


Movie : Guzaarish / गुजारिश (2010)
Music By : Sanjay Leela Bhansali / संजय लीला भन्साली
Lyrics By : Turaz / ए.एम.तुराज़
Singers : Shail Hada , Rakesh Pandit / शैल हदा, राकेश पंडित
Performed By : Hrithik Roshan


Ke Tera Zikr Hai Ya Itra Hai
Jab Jab Karta Hu Mehakta hu
Behakta Hu, Chehakta Hu
O Ke Tera, Tera
Tera Zikr Hai Ya Itra Hai
Jab Jab Karta Hu Mehakta hu
Behakta Hu Chehakta Hu
 
Sholon Ki Tarah
Khusbuon Me Dehakta Hu
Behakta Hu Mehakta hu
Ke Tera Zikr Hai Ya Itra Hai
Jab Jab Karta Hu Mehakta hu
 
Tera Zikr Hai Ya Itra Hai
Jab Jab Karta Hu Mehaktahu
Behakta Hu Chehakta Hu
 
Teri Fikr Hai Ya Fakr Hai
Teri Fikr Hai Ya Fakr Hai
Jab Jab Karta Hu Machalta Hu
Uchalta Hu Fisalta Hu
Pagal Ki Tarah Mastiyon Me Tehalta Hu 
Uchalta Hu Fisalta Hu
Ke Tera Zikr Hai Ha Zikr Hai
Ya Itr Hai Itra Hai
Jab Jab Karta Hu Mehakta Hu 

Behakta Hu Chehakta Hu

Please Share:

Leave a Reply