amrita-pritam-hindi-poem-saal-mubarak
Amrita Pritam Hindi Poem Saal Mubarak

Amrita Pritam Poem Saal Mubarak | साल मुबारक | अमृता प्रीतम | कविता

Hindi Kala presents Amrita Pritam Poem Roji | रोजी in Hindi & English with meaning or English Translation for you.

Continue ReadingAmrita Pritam Poem Saal Mubarak | साल मुबारक | अमृता प्रीतम | कविता
Firaq Gorakhpuri Ghazal Jo Baat Hai Hadd Se Badh Gayi Hai Ghazal

Firaq Gorakhpuri – Jo Baat Hai Hadd Se Badh Gayi Hai | फ़िराक़ गोरखपुरी – जो बात है हद से बढ़ गयी है | Ghazal

Hindi Kala presents Firaq Gorakhpuri Ghazal Jo Baat Hai Hadd Se Badh Gayi Hai | फ़िराक़ गोरखपुरी - जो बात है हद से बढ़ गयी है

Continue ReadingFiraq Gorakhpuri – Jo Baat Hai Hadd Se Badh Gayi Hai | फ़िराक़ गोरखपुरी – जो बात है हद से बढ़ गयी है | Ghazal
हुल्लड़ मुरादाबादी - मसखरा मशहूर है आँसू बहाने के लिए

Hullad Muradabadi – Mashkhara Mashoor Hai Aansoo Bahane Ke Liye | हुल्लड़ मुरादाबादी – मसखरा मशहूर है आँसू बहाने के लिए | Ghazal

Hindi Kala presents Hullad Muradabadi Ghazal Mashkhara Mashoor Hai Aansoo Bahane Ke Liye | हुल्लड़ मुरादाबादी मसखरा मशहूर है

Continue ReadingHullad Muradabadi – Mashkhara Mashoor Hai Aansoo Bahane Ke Liye | हुल्लड़ मुरादाबादी – मसखरा मशहूर है आँसू बहाने के लिए | Ghazal
जॉन एलिया - अजब था उसकी दिलज़ारी का अन्दाज़

Jaun Elia – Ajab Tha Uski Dilzari Ka Andaz | जॉन एलिया – अजब था उसकी दिलज़ारी का अन्दाज़ | Ghazal

Hindi Kala presents Jaun Elia's beautiful Ghazal Ajab Tha Uski Dilzari Ka Andaz जॉन एलिया - अजब था उसकी दिलज़ारी का अन्दाज़ Ghazal

Continue ReadingJaun Elia – Ajab Tha Uski Dilzari Ka Andaz | जॉन एलिया – अजब था उसकी दिलज़ारी का अन्दाज़ | Ghazal
Joy Mukerjee & Sharmila Tagore in Movie Humsaya (1968)

Humsaya (1968) – Dil Ki Awaz Bhi Sun Lyrics | दिल की आवाज़ भी सुन मेरे फसाने पे ना जा | Mohammad Rafi

Hindi Kala presents dil ki awaz bhi sun lyrics from movie Humsaya (1968) sung by legend Mohammad Rafi and music by O.P. Nayyar.

Continue ReadingHumsaya (1968) – Dil Ki Awaz Bhi Sun Lyrics | दिल की आवाज़ भी सुन मेरे फसाने पे ना जा | Mohammad Rafi
Kunwar Bechain

Kunwar Bechain – Yeh Lafz Aaine Hai Mat Inhe Ucchal Ke Chal | कुँअर बेचैन – ये लफ्ज़ आईने हैं मत इन्हें उछाल के चल | Ghazal

Kunwar Bechain - Yeh Lafz Aaine Hai Mat Inhe Ucchal Ke Chal | कुँअर बेचैन - ये लफ्ज़ आईने हैं मत इन्हें उछाल के चल | Ghazal

Continue ReadingKunwar Bechain – Yeh Lafz Aaine Hai Mat Inhe Ucchal Ke Chal | कुँअर बेचैन – ये लफ्ज़ आईने हैं मत इन्हें उछाल के चल | Ghazal
Munawwar Rana Ghazal

Munawwar Rana – Jab Bhi Kashti Meri Sailaab Mein Aa Jati Hai | मुनव्वर राना – जब भी कश्ती मेरी सैलाब में आ जाती है | Ghazal

Munawwar Rana - Jab Bhi Kashti Meri Sailaab Mein Aa Jati Hai | मुनव्वर राना - जब भी कश्ती मेरी सैलाब में आ जाती है | Ghazal

Continue ReadingMunawwar Rana – Jab Bhi Kashti Meri Sailaab Mein Aa Jati Hai | मुनव्वर राना – जब भी कश्ती मेरी सैलाब में आ जाती है | Ghazal