Children’s Literature | बाल साहित्य

Deendayal Sharma – Papa Jhooth Nahi Bolte | दीनदयाल शर्मा – पापा झूठ नहीं बोलते | Short Story

Deendayal Sharma - Papa Jhooth Nahi Bolte | दीनदयाल शर्मा - पापा झूठ नहीं बोलते | Short Story मां-बाप की इकलौती बेटी सुरभि। उम्र लगभग ग्यारह साल।

Continue Reading Deendayal Sharma – Papa Jhooth Nahi Bolte | दीनदयाल शर्मा – पापा झूठ नहीं बोलते | Short Story

Sarveshwar Dayal Saxena – Safed Gudd | सर्वेश्वरदयाल सक्सेना – सफेद गुड़ | Short Story

Sarveshwar Dayal Saxena - Safed Gudd | सर्वेश्वरदयाल सक्सेना - सफेद गुड़ | Short Story दुकान पर सफेद गुड़ रखा था। दुर्लभ था। उसे देखकर बार-बार उसके मुँह से

Continue Reading Sarveshwar Dayal Saxena – Safed Gudd | सर्वेश्वरदयाल सक्सेना – सफेद गुड़ | Short Story

Premchand – Eidgah | प्रेमचंद – ईदगाह | Story

प्रेमचंद की यह कहानी मैं बाल साहित्य के करीब भी पाता हूँ और साथ ही उत्तम हिंदी साहित्य के, बच्चों की हरकतों और मेले का महीन विवरण और साथ ही एक छोटे से बच्चे का अपनी दादी के प्रति असीम प्रेम इस कहानी को कालजयी बनाता है।  Premchand - Eidgah Hindi story is the story of a small boy and his love and care for his Grandmother when he go to visit a carnival.

Continue Reading Premchand – Eidgah | प्रेमचंद – ईदगाह | Story

Vishnu Sharma – Akalmand Hans | विष्णु शर्मा – अक़्लमंद हंस | Moral Story

Vishnu Sharma - Akalmand Hans | विष्णु शर्मा - अक़्लमंद हंस | Moral Story about a Swan in Hindi. Please read it to your children.

Continue Reading Vishnu Sharma – Akalmand Hans | विष्णु शर्मा – अक़्लमंद हंस | Moral Story