qateel-shifai-sari-basti-mein-yeh-jadoo-nazar
Qateel Shifai – Sari Basti Mein Yeh Jadoo Nazar

Qateel Shifai – Sari Basti Mein Yeh Jadoo Nazar | क़तील शिफ़ाई – सारी बस्ती में ये जादू नज़र आए मुझको | Ghazal

Hindi Kala presents Qateel Shifai Ghazal Sari Basti Mein Yeh Jadoo Nazar | क़तील शिफ़ाई - सारी बस्ती में ये जादू नज़र आए मुझको

Continue ReadingQateel Shifai – Sari Basti Mein Yeh Jadoo Nazar | क़तील शिफ़ाई – सारी बस्ती में ये जादू नज़र आए मुझको | Ghazal
dushyant-kumar-ghazal-ek-gudiya-ki-kai-kathpuliyo-mein-jaan-hai
Dushyant Kumar - Ek Gudiya Ki Kai Kathpuliyo Mein Jaan Hai Ghazal

Dushyant Kumar Ek Gudiya Ki Ghazal – Ek Gudiya Ki Kai Kathpuliyo Mein Jaan Hai | दुष्यंत कुमार – एक गुड़िया की कई कठपुतलियों में जान है

Hindi Kala presents Dushyant Kumar famous Ghazal which he wrote during emergency in India describing condition of the nation and satire for Indira Gandhi.

Continue ReadingDushyant Kumar Ek Gudiya Ki Ghazal – Ek Gudiya Ki Kai Kathpuliyo Mein Jaan Hai | दुष्यंत कुमार – एक गुड़िया की कई कठपुतलियों में जान है
Firaq Gorakhpuri Ghazal Jo Baat Hai Hadd Se Badh Gayi Hai
Firaq Gorakhpuri Ghazal Jo Baat Hai Hadd Se Badh Gayi Hai Ghazal

Firaq Gorakhpuri – Jo Baat Hai Hadd Se Badh Gayi Hai | फ़िराक़ गोरखपुरी – जो बात है हद से बढ़ गयी है | Ghazal

Hindi Kala presents Firaq Gorakhpuri Ghazal Jo Baat Hai Hadd Se Badh Gayi Hai | फ़िराक़ गोरखपुरी - जो बात है हद से बढ़ गयी है

Continue ReadingFiraq Gorakhpuri – Jo Baat Hai Hadd Se Badh Gayi Hai | फ़िराक़ गोरखपुरी – जो बात है हद से बढ़ गयी है | Ghazal
hullad-muradabadi-ghazal-mashkhara-mashoor-hai-aansoo-bahane-ke-liye
हुल्लड़ मुरादाबादी - मसखरा मशहूर है आँसू बहाने के लिए

Hullad Muradabadi – Mashkhara Mashoor Hai Aansoo Bahane Ke Liye | हुल्लड़ मुरादाबादी – मसखरा मशहूर है आँसू बहाने के लिए | Ghazal

Hindi Kala presents Hullad Muradabadi Ghazal Mashkhara Mashoor Hai Aansoo Bahane Ke Liye | हुल्लड़ मुरादाबादी मसखरा मशहूर है

Continue ReadingHullad Muradabadi – Mashkhara Mashoor Hai Aansoo Bahane Ke Liye | हुल्लड़ मुरादाबादी – मसखरा मशहूर है आँसू बहाने के लिए | Ghazal
jaun-elia-ghazal-ajab-tha-uski-dilzari-ka-andaz
जॉन एलिया - अजब था उसकी दिलज़ारी का अन्दाज़

Jaun Elia – Ajab Tha Uski Dilzari Ka Andaz | जॉन एलिया – अजब था उसकी दिलज़ारी का अन्दाज़ | Ghazal

Hindi Kala presents Jaun Elia's beautiful Ghazal Ajab Tha Uski Dilzari Ka Andaz जॉन एलिया - अजब था उसकी दिलज़ारी का अन्दाज़ Ghazal

Continue ReadingJaun Elia – Ajab Tha Uski Dilzari Ka Andaz | जॉन एलिया – अजब था उसकी दिलज़ारी का अन्दाज़ | Ghazal
badi-takleef-hoti-hai-ghazal-by-gulzar
Gulzar - Badi Takleef Hoti Hai Ghazal

Gulzar – Badi Takleef Hoti Hai | गुलज़ार – बड़ी तकलीफ़ होती है | Ghazal

Hindi Kala presents you Gulzar's Ghazal Badi Takleef Hoti Hai | मचल के जब भी आँखों से छलक जाते हैं दो आँसूसुना है आबशारों को बड़ी तकलीफ़ होती है

Continue ReadingGulzar – Badi Takleef Hoti Hai | गुलज़ार – बड़ी तकलीफ़ होती है | Ghazal
shakeel-badayuni--badle-badle-mere-sarkar-nazar-aate-hai
Shakeel Badayuni Ghazal Badle Badle Mere Sarkar Nazar Aate Hai

Shakeel Badayuni – Badle Badle Mere Sarkar Nazar Aate Hai | शकील बदायूँनी – बदले बदले मेरे सरकर नज़र आते हैं | Ghazal

Hindi Kala presents Shakeel Badayuni ghazal Badle Badle Mere Sarkar Nazar Aate Hai शकील बदायूँनी की बदले बदले मेरे सरकार नज़र आते हैं

Continue ReadingShakeel Badayuni – Badle Badle Mere Sarkar Nazar Aate Hai | शकील बदायूँनी – बदले बदले मेरे सरकर नज़र आते हैं | Ghazal
wasim-barelvi-mohabbat-ke-dino-ki-yahi-kharabi-hai
Wasim Barelvi Ghazal

Wasim Barelvi – Mohabbat Ke Dino Ki Yahi Kharabi hai | वसीम बरेलवी – मुहब्बतों के दिनों की यही ख़राबी है | Ghazal

Hindi Kala presents Wasim Barelvi Shayari Mohabbat Ke Dino Ki Yahi Kharabi hai | वसीम बरेलवी - मुहब्बतों के दिनों की यही ख़राबी है | Ghazal

Continue ReadingWasim Barelvi – Mohabbat Ke Dino Ki Yahi Kharabi hai | वसीम बरेलवी – मुहब्बतों के दिनों की यही ख़राबी है | Ghazal
bulati-hai-magar-jaane-ka-nai
Rahat Indori Ghazal

Rahat Indori – Bulati Hai Magar Jane Ka Nai | राहत इन्दौरी – बुलाती है मगर जाने का नईं | Ghazal

Hindi Kala presents bulati hai magar jaane ka nai ghazal lyrics by Rahat Indori | राहत इन्दौरी - बुलाती है मगर जाने का नईं

Continue ReadingRahat Indori – Bulati Hai Magar Jane Ka Nai | राहत इन्दौरी – बुलाती है मगर जाने का नईं | Ghazal
Kunwar Bechain - Yeh Lafz Aaine Hai Mat Inhe Ucchal Ke Chal
Kunwar Bechain

Kunwar Bechain – Yeh Lafz Aaine Hai Mat Inhe Ucchal Ke Chal | कुँअर बेचैन – ये लफ्ज़ आईने हैं मत इन्हें उछाल के चल | Ghazal

Kunwar Bechain - Yeh Lafz Aaine Hai Mat Inhe Ucchal Ke Chal | कुँअर बेचैन - ये लफ्ज़ आईने हैं मत इन्हें उछाल के चल | Ghazal

Continue ReadingKunwar Bechain – Yeh Lafz Aaine Hai Mat Inhe Ucchal Ke Chal | कुँअर बेचैन – ये लफ्ज़ आईने हैं मत इन्हें उछाल के चल | Ghazal